बेरुत धमाका: लेबनान की राजधानी बेरुत में बड़ा धमाका, मरने वालों की संख्या बढ़कर 100 हुई

बेरुत धमाका: लेबनान की राजधानी बेरुत में बड़ा धमाका, मरने वालों की संख्या बढ़कर 100 हुई

बेरुत धमाका: लेबनान की राजधानी बेरुत में बड़ा धमाका, मरने वालों की संख्या बढ़कर 100 हुई

लेबनान की राजधानी बेरूत में मंगलवार रात हुए भीषण विस्‍फोट में मृतकों की संख्‍या 100 तक पहुंच गई है. 4,000 से अधिक लोग घायल हुए हैं.

विस्‍फोट इतना तेज था कि इसका झटका पूरे बेरूत में महसूस किया गया. इसके असर से कई मकान ध्‍वस्‍त हो गए और खिड़कियों के शीशे टूट गए. बेरूत से 240 किलोमीटर दूर साइप्रस द्वीप में भी धमाके की आवाज सुनी गई.

राष्‍ट्रपति माइकल एयोन ने कहा है कि गोदाम में असुरक्षित ढंग से रखे गए 2,750 टन अमोनियम नाइट्रेट के कारण यह विस्‍फोट हुआ. लेबनान में भारतीय दूतावास भारतीय समुदाय के संपर्क में है. दूतावास ने लोगों के लिए हेल्‍पलाइन नंबर भी जारी किए हैं.

संयुक्‍त राष्‍ट्र महासचिव अन्‍तोनियो गुत्‍रश ने पीड़ितों के परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्‍यक्‍त की है.

उपराष्‍ट्रपति वेंकैया नायडू ने बेरूत में विस्‍फोट में जान-माल के नुकसान पर दु:ख व्‍यक्‍त किया है. अपने ट्वीट में उन्‍होंने इस विस्‍फोट में मारे गए लोगों के परिजनों के प्रति संवेदना प्रकट की और घायलों के शीघ्र स्‍वस्‍थ होने के लिए प्रार्थना की है.

Do you want to teach student online:- Apply Now

Teach Online And Earn Money:- Join Now for Free

इसे भी पढ़ें :- नई शिक्षा नीति क्या लड़कियों की स्कूल वापसी करा पाएगी?

बेरुत धमाका: लेबनान की राजधानी बेरुत में बड़ा धमाका, मरने वालों की संख्या बढ़कर 100 हुई


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लेबनान के बेरूत शहर में हुए भीषण विस्फोट पर गहरा शोक व्यक्त किया है. प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘बेरूत शहर में भीषण विस्फोट में हुए जान-माल के भारी नुकसान से मैं स्‍तब्‍ध और दु:खी हूं. हमारी प्रार्थनाएं एवं गहरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों और घायलों के साथ हैं.’’

यह धमाका 2005 में लेबनान के पूर्व प्रधानमंत्री रफ़ीक हरीरी की हत्या की जाँच और अदालती सुनवाई का फ़ैसला आने के ठीक पहले हुआ है.

यह धमाका तब हुआ है जब लेबनान आर्थिक संकट में बुरी तरह से घिरा हुआ है. लेबनान के स्वास्थ्य मंत्री हमाद हसन ने कहा है कि धमाके में कई लोग ज़ख़्मी हुए हैं और भारी नुक़सान हुआ है.

कहा जा रहा है कि अस्पतालों में बड़ी संख्या में हताहतों को पहुँचाया गया है.


इसे भी पढ़ें :- नई शिक्षा नीति-2020: पाँचवीं क्लास तक मातृभाषा में पढ़ाई, जानिए बड़ी बातें

इसे भी पढ़ें :- मणिपुर: मुख्यमंत्री पर आरोप लगाने वाली महिला पुलिस ऑफ़िसर गिरफ़्तार होने वाली थीं?

Indian best e-learning site:- View Now

More About E-tuitionClasses:- Click Here

source:- DD News